News1

भामाशाह द्वारा पेंशनरो को जाेडना

जालोर जिले में वर्तमान में लगभग एक लाख ईकहत्तर हजार पेंशनर्स है। इन सभी को भामाशाह प्लेटफाॅर्म से जोड़ने के लिए जालोर जिले में पेंशनर्स का भौतिक सत्यापन एवं डेटाबेस सीडिंग कार्य करने का निर्णय लिया गया है। इस अभियान में जिले के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में कार्यरत लगभग 732 ई-मित्र केन्द्रों का उपयोग किया जाएगा। इस अभियान का व्यापक प्रचार-प्रसार विभिन्न माध्यमों समाचार पत्रों, पोस्टर, बैनर आदि द्वारा किया जाएगा।

इस अभियान के अन्‍तर्गत भामाशाह प्लेटफाॅर्म से जोड़ने का शत प्रतिशत लक्ष्य रखा गया है। जिसमें जिले मेें उपलब्ध ई-मित्र केन्द्रों का उपयोग करते हुए सभी पेंशनर्स का भामाशाह प्लेटफार्म लिंकेज कार्य किया जाएगा। 

चूंकि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग जयपुर द्वारा पेंशनर्स सत्यापन एवं सीडिंग कार्य के लिए जालोर जिले को पायलट जिले के रूप में चुना गया है। अतः सभी पेंशनर्स का सत्यापन का लक्ष्य रखा गया है। जो पेंशनर्स निर्धारित समय में ई-मित्र पर अपना सत्यापन करवाएंगे, वे पेंशन सुगमता पूर्वक प्राप्त कर पाएंगे।  

इस कार्य हेतु जालोर जिले की आहोर पंचायत समिति को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में चुना गया है। अतः इस पंचायत समिति के सभी पेंशनर्स का सत्यापन कार्य 15 अगस्त 2015 से पूर्व पूर्ण कर लिया जाएगा। जिससे सभी पेंशनर्स को उनकी पेंशन का भुगतान सीधे बैंक द्वारा किया जाना प्रस्तावित है।